मारपीट कर अवैध रूप से रूपया ऐंठने वालों को सश्रम कारावास

0
165

(Amit Dubey-8818814739)
शहडोल। सम्भागीय जनसंपर्क अधिकारी नवीन कुमार वर्मा ने बताया कि न्यायालय अपर सत्र न्यायाधीश ब्यौहारी के द्वारा अभियुक्तगण सज्जू उर्फ सज्जन मिश्रा पिता बद्री प्रसाद मिश्रा उम्र 29 वर्ष, भागवत लोनी पिता सुखनंदन लोनी उम्र 27 वर्ष, मग्घू लोनी पिता शिवलाल लोनी उम्र 38 वर्ष, विजय लोनी पिता अवधशरण लोनी उम्र 40 वर्ष, छोटे लोनी पिता समयलाल लोनी उम्र 39 वर्ष, राजू लोनी पिता ताराचंद लोनी उम्र 42 वर्ष ,रामसिंह लोनी पिता राजेश लोनी उम्र 25 वर्ष ,नीरज उर्फ विक्की लोनी पिता दीपचंद लोनी उम्र 29 वर्ष , छोटे लोनी पिता दादूराम लोनी उम्र 32 वर्ष तथा , रामप्रताप लोनी पिता दादूराम लोनी उम्र 29 वर्ष निवासी ग्राम सरसी थाना पपौंध तहसील ब्यौहारी को धारा 329 भादसं. में पांच-पांच वर्ष तथा धारा 147 भा.द.सं. में 06-06 माह के सश्रम कारावास एवं 2000-2000 रूपये के अर्थदण्ड सेे दंडित किया गया।
धांस दूंगा तलवार
मीडिया सेल प्रभारी नवीन कुमार वर्मा ने बताया कि फरियादी राम उजागर सिंह निवासी ग्राम सरसी ने थाना ब्यौहारी में रिपोर्ट लिखाई थी कि बीते दशहरे के दिन गांव के छोटे बच्चों के बीच झगड़ा हो गया था, जिसकी रिपोर्ट उसने थाना में की थी। 06 अक्टूबर 2014 को दिन के करीब 3:00 बजे को वह अपने लड़का को बस स्टैण्ड के पास छोडऩे आ रहा था, तब आरोपी नीरज उर्फ विक्की लोनी, जायसवाल की दुकान के पास मिला व रिपोर्ट करने की बात पर फरियादी को देखते ही मोबाइल फोन से अपने साथियों राजू लोनी व संज्जू लोनी को बुलवा लिया। तब तक फरियादी पडऱहा की दुकान के पास पहुंच गया था। इसके बाद आरोपीगण, पडऱहा की दुकान पर पहुंचकर फरियादी से गाली-गलौच करने लगे और राजू लोनी ने तलवार निकालकर फरियादी से अभद्र भाषा का उपयोग करते हुए कहा कि तलवार धांस दूंगा।
काटकर भर देंगे बोरे में
अन्य आरोपीगण राम सिंह लोनी, छोटे लोनी, भागवत लोनी, विजय लेानी, मग्घू लोनी, व राम प्रताप लोनी भी आ गए और गाली-गलौंच करते हुए कहने लगे कि मेरी दवाई में जो पैसे लगे हैं दे दो, नहीं तो काट कर ,बोरा में भरकर नदी में फेंक देंगे, मछली खा जायेगी, पता भी नहीं चलेगा। उक्त सभी लोग फरियादी के साथ मारपीट करने लगे तो फरियादी मोलई जायसवाल की दुकान में घुस गया। तब उक्त लोग दुकान का काउंटर गिराकर उसे पकड़कर फिर मार-पीट किए। दुकानदार मोलई के घर वाले मना भी कर रहे थे कि मत मारो। किन्तु अभियुक्तगण उसे मार-पीट करते हुए नदी की ओर ले गए। तब रास्ते में रूपचंद लोनी, समना लोनी व कमलेश लोनी मिले और उन्होंने बीच-बचाव किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here